क्या ये बाते अलबर्ट आइंस्टाइन के बारे में आपको पता है

0
812

अल्बर्ट आइंस्टीन के बारे मे कुछ ऐसे तथ्य जो होश उड़ा देने वाले हैं।

अल्बर्ट आइंस्टीन एक जीनियस थे। लेकीन जीनियस होते हुए भी वह चीजे भुल जाते थे। एक बार आइंस्टीन अपने एक सहकर्मी के साथ लैब मे थे तभी उनके सहकर्मी ने आइंस्टाइन से उनका फ़ोन नम्बर मांग। आइन्सटीन टेबल पर पड़े फोनेबूक डिरेक्टरी मे खोजने लगे। तभी उनके साथी ने पुछा आपको अपना नम्बर याद नही है? तब अल्बर्ट आइंस्टीन ने कहा जो चीज़ मुझे बूक मे मिल जाती है भला उसे मै क्यू याद रखू।

आइन्सटीन की यह तस्वीर उनके 72वें जन्मदिन पर खीची गई थी। एक फोटोग्राफर ने जब उनसे मुस्कुराने के लिये कहा तब उन्होंने जीव निकाल ली क्युंकि उस दिन बहुत से फोटोग्राफर ने उनसे मुस्कुराने के लिये कहा था। यह तस्वीर 80 लाख मे बिका इस फोटो पे आइन्सटीन के औटोग्राफ है

आइन्सटीन जब अपनी आखरी सांसे ले रहे थे। तभी उन्होने वहां मौजूद एक आदमी से कहा था। वो आइन्सटीन के आखिरी शब्द थे।लेकीन वह उन्होने जर्मन मे कहा था और वहां मौजूद आदमी को जर्मन नही आती थी। इसलिए वह आखिरी शब्द का पता नही चल पाया आजतक।

आइन्सटीन के लिये पुरे दुनिया मे जाने जाते है। लेकीन यह बहुत कम लोग जानते हैं की 1921 मे उनको नोबेल प्राइज़ फोटो इलेक्ट्रिक इफेक्ट की खोज करने के लिये दिया गया था।

आइन्सटीन को बाल कटवाना पसंद नही था। अक्सर उनके बाल बिना कंघी किये रहता था। आज उनका बाल जीनियस हेयरस्टाइल से जाना जाता है।

आइन्सटीन को बचपन मे बहुत मंदबुद्धि बच्चा माना जाता था। उनके शिक्षक ने यहां तक कह दिया था की यह जिंदगी मे कुछ नही कर पायेगा।

आइन्सटीन जब पैदा हुए थे। उनका सर नॉर्मल बच्चे से बडा था डॉक्टर ने उन्हे मानसिक तौर पर विकलांग कह दिया था।

पैदा होने के 4 साल तक वह कुछ नही बोले थे।

साल 1952 मे आइन्सटीन को इजराइल का राष्ट्रपति बनने का ऑफ़र आया था लेकीन उन्होने यह कह कर मना कर दिया की वह पॉलिटिक्स के लिये नही बने हैं वह साइंस के लिये बने हैं।

आइन्सटीन युध्द को बहुत खतरनाक मानते थे। एक बार उनसे पुछा गया था की 3वा विश्वयुध्द कैसे लड़ा जायेगा। तब उन्होने कहा ये तो मुझे नही पता लेकीन इतना कह सकता हूं की 4वा विश्व युद्ध पत्थरों से लड़ा जायेगा। 3वे विश्व युध्द के बाद मानव फिर से स्टोन एज मे चला जायेगा।

आइन्सटीन अपने एक फोटो के लिये 5 डॉलर और एक स्पीच के लिये 1000 डॉलर लेते थे और उसे charity मे दे देते थे।

अल्बर्ट आइंस्टीन का एक पत्र 20 करोड़ 38 लाख मे बिका इस पत्र मे उन्होने ईश्वर और धर्म के बारे मे लिखा था।

आइन्सटीन को सिगार पीना बहुत पसंद था।

आइंस्टाइन 10 घंटे सोते थे। वो ऐसा इसलिए करते थे ताकी वह अपने काम मे फोकस कर सके