कौन सा व्यापार है जो 5 लाख में भी शुरू किया जा सकता है ?

0
355

ऑटोमोबाइल कंपनियों की शोरूम दो प्रकार की होती हैं।

एक होती है डीलरशिप
दूसरी होती है सब-डीलरशिप
डीलरशिप मिलनी बहुत मुश्किल है। उसके लिए कंपनी आपके दूसरे व्यापारों के बारे में देखती है, प्रॉपर्टी बैंक बैलेंस सब देखती है, अगर उन्हें लगता है आपमें काबिलियत है कंपनी के ब्रांड को चलाने के लिए तो आपको डीलरशिप देती है और उसके लिए 40 से 50 लाख रुपये आपको खर्च करने पड़ते हैं (बाइक की डीलरशिप)।

 

 

 

 

 

 

 

लेकिन सब-डीलरशिप में ऐसा कुछ नहीं होता, क्यूंकि सब डीलरशिप देने का अधिकार मुख्य डीलर के पास होता है। हीरो मोटोकॉर्प, टीवीएस, बजाज इत्यादि की सब-डीलरशिप आपको 5 लाख से भी कम में मिल जाएगी।

लेकिन आपको अपना शोरूम ऐसी जगह पर खोलना होगा जहां कोई और सब डीलर या मुख्य डीलर नहीं है।

सब डीलरशिप में आप अपने शोरूम में बेचने के लिए कंपनी से गाड़ियां ना लेकर मुख्य डीलर से गाड़ियां लेते हैं । अगर मुख्य डीलर एक बाइक पर 6000 रुपये कमाता है तो आप सब डीलर के तौर पर 4000 कमाएंगे और 2000 मुख्य डीलर अपने पास रखेगा।

जानते हैं की सब डीलर किन तरीकों से पैसे कमा सकता है

 

 

 

 

 

 

बाइक या स्कूटी की बिक्री पर।
बाइक और स्कूटी का इन्शुरन्स करवाने पर।
आरटीओ से रजिस्ट्रेशन करवाने पर।
ग्राहक के हाथ में बाइक देने से पहले उसमे कुछ पार्ट्स लगाकर, जैसे मड गार्ड, सीट कवर, डिक्की, बॉडी प्रोटेक्टर इत्यादि।
यह सब करके एक मुख्य डीलर 8000 से 15,000 कमा लेता है एक बाइक से। आप सब-डीलर के तौर पर 5000 से 10,000 कमा सकते हैं एक बाइक या स्कूटी से।

हीरो मोटोकॉर्प की सब-डीलरशिप अगर आपको मिल जाती है तो बहुत अच्छा होगा क्यूंकि बाइक और स्कूटी मिलाकर इनके 19 या 20 मॉडल हैं। हीरो के बाद टीवीएस, बजाज, सुजुकी, हौंडा के मुख्य डीलर से भी बात कर सकते हैं।

अगर महिंद्रा टू व्हीलर की मुख्य डीलरशिप लेते हैं तो पूरी की पूरी डीलरशिप आपको 7–8 लाख में मिल जाएगी लेकिन ये बाइक ज्यादा बिकती नहीं हैं।

स्कूल का एक मित्र है जो अपनी बीवी के साथ मिलकर पिछले 5 सालों से टीवीएस की सब डीलरशिप चला रहा है और उनके शोरूम से हर महीने 25 से ज़्यादा स्कूटी और बाइक बिक जाती हैं। उन्ही से मुझे यह आईडिया मिला है। अगर आपके किसी काम की है तो आप इसपर अमल कर सकते हैं।